Home शायरीSad Shayari alone shayari in hindi | lonely shayari

alone shayari in hindi | lonely shayari

by piyush Hindustani
hindi sad shayari

इंसान जब भी कभी दुखी होता है तो वह अकेला महसूस करने लगता है और उसके दिमाग में कई तरह के बिचार आने लगते है ख़ास तौर पे जब उसके दुखी होने का कारण उसका अपना प्यार हो। तब उसे जरूरत पड़ती है alone shayari की जिससे वह अपने अकेलेपन को lonely shayari के जरिये शब्दों में पिरो सके।

प्यार में अक्सर हर प्यार करने वाले के साथ ये जरूर होता है और वह जब भी अकेला(lonely) महसूस करता है वह alone shayari in hindi जरूर पढ़ता है या alone shayari whatsapp status लगता है जिससे वह अपने अकेलेपन को कम कर सके।
तो आज hindi hain hum आप सबके लिए लाया है alone shayari in hindi for girlfriend, alone shayari in hindi for boyfriend और sad alone girl shayari in hindi का एक बेहतरीन कलेक्शन जो कुछ हद तक आपके इमोशन को आपके ही शब्दों में ढाल कर आपके दर्द को हल्का कर देगा।


alone shayari

alone shayari

alone shayari


ख़्वाब की तरह बिखर जाने को जी चाहता है
ऐसी तन्हाई कि मर जाने को जी चाहता है

khvaab ki tarah bikhar jaane ko ji chaahata hai
aisi tanhai ki mar jaane ko ji chaahata hai

 


 

दिन को दफ़्तर में अकेला शब भरे घर में अकेला
मैं कि अक्स-ए-मुंतशिर एक एक मंज़र में अकेला

din ko daftar mein akela shab bhare ghar mein akela
main ki aks-e-muntashir ek ek manzar mein akela

 


 

ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा
क़ाफ़िला साथ और सफ़र तन्हा

zindagi yun hui basar tanha
qaafila saath aur safar tanha

 


 

तेरे जल्वों ने मुझे घेर लिया है ऐ दोस्त
अब तो तन्हाई के लम्हे भी हसीं लगते हैं

tere jalvon ne mujhe gher liya hai ai dost
ab to tanhai ke lamhe bhi hasin lagate hain

 


 

अपने होने का कुछ एहसास न होने से हुआ
ख़ुद से मिलना मिरा इक शख़्स के खोने से हुआ

apane hone ka kuchh ehasaas na hone se hua
khud se milana mira ik shakhs ke khone se hua

 


lonely shayari

lonely shayari

lonely shayari


मैं हूँ दिल है तन्हाई है
तुम भी होते अच्छा होता

main hun dil hai tanhai hai
tum bhi hote achchha hota

 


 

वो नहीं है न सही तर्क-ए-तमन्ना न करो
दिल अकेला है इसे और अकेला न करो

vo nahin hai na sahi tark-e-tamanna na karo
dil akela hai ise aur akela na karo

 


 

मैं सोते सोते कई बार चौंक चौंक पड़ा
तमाम रात तिरे पहलुओं से आँच आई

main sote sote kai baar chaunk chaunk pada
tamaam raat tire pahaluon se aanch aai

 


 

मुझे तन्हाई की आदत है मेरी बात छोड़ें
ये लीजे आप का घर आ गया है हात छोड़ें

mujhe tanhai ki aadat hai meri baat chhoden
ye lije aap ka ghar aa gaya hai haat chhoden

 


 

किस क़दर बद-नामियाँ हैं मेरे साथ
क्या बताऊँ किस क़दर तन्हा हूँ मैं

kis qadar bad-naamiyaan hain mere saath
kya bataun kis qadar tanha hun main

 


alone shayari in hindi

alone shayari in hindi

alone shayari in hindi


अपने साए से चौंक जाते हैं
उम्र गुज़री है इस क़दर तन्हा

apane sae se chaunk jaate hain
umr guzari hai is qadar tanha

 


 

जम्अ करती है मुझे रात बहुत मुश्किल से
सुब्ह को घर से निकलते ही बिखरने के लिए

jam karati hai mujhe raat bahut mushkil se
subh ko ghar se nikalate hi bikharane ke lie

 


 

अब तो उन की याद भी आती नहीं
कितनी तन्हा हो गईं तन्हाइयाँ

ab to un ki yaad bhi aati nahin
kitani tanha ho gain tanhaiyaan

 


 

बना रक्खी हैं दीवारों पे तस्वीरें परिंदों की
वगर्ना हम तो अपने घर की वीरानी से मर जाएँ

bana rakkhi hain divaaron pe tasviren parindon ki
vagarna ham to apane ghar ki viraani se mar jaen

 


 

इतने घने बादल के पीछे
कितना तन्हा होगा चाँद

itane ghane baadal ke pichhe
kitana tanha hoga chaand

 


alone sad shayari

alone sad shayari

alone sad shayari


दिल दबा जाता है कितना आज ग़म के बार से
कैसी तन्हाई टपकती है दर ओ दीवार से

dil daba jaata hai kitana aaj gam ke baar se
kaisi tanhai tapakati hai dar o divaar se

 


 

ये इंतिज़ार नहीं शम्अ है रिफ़ाक़त की
इस इंतिज़ार से तन्हाई ख़ूब-सूरत है

ye intizaar nahin sham hai rifaaqat ki
is intizaar se tanhai khub-surat hai

 


 

किसी हालत में भी तन्हा नहीं होने देती
है यही एक ख़राबी मिरी तन्हाई की

kisi haalat mein bhi tanha nahin hone deti
hai yahi ek kharaabi miri tanhai ki

 


 

एक महफ़िल में कई महफ़िलें होती हैं शरीक
जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा

ek mahafil mein kai mahafilen hoti hain sharik
jis ko bhi paas se dekhoge akela hoga

 


 

हिचकियाँ रात दर्द तन्हाई
आ भी जाओ तसल्लियाँ दे दो

hichakiyaan raat dard tanhai
aa bhi jao tasalliyaan de do

 


 

ये सर्द रात ये आवारगी ये नींद का बोझ
हम अपने शहर में होते तो घर चले जाते

ye sard raat ye aavaaragi ye nind ka bojh
ham apane shahar mein hote to ghar chale jaate

 


alone shayari images

alone shayari images

alone shayari images


तुम से मिले तो ख़ुद से ज़ियादा
तुम को अकेला पाया हम ने

tum se mile to khud se ziyaada
tum ko akela paaya ham ne

 


 

माँ की दुआ न बाप की शफ़क़त का साया है
आज अपने साथ अपना जनम दिन मनाया है

maan ki dua na baap ki shafaqat ka saaya hai
aaj apane saath apana janam din manaaya hai

 


 

मकाँ है क़ब्र जिसे लोग ख़ुद बनाते हैं
मैं अपने घर में हूँ या मैं किसी मज़ार में हूँ

makaan hai qabr jise log khud banaate hain
main apane ghar mein hun ya main kisi mazaar mein hun

 


 

अब इस घर की आबादी मेहमानों पर है
कोई आ जाए तो वक़्त गुज़र जाता है

ab is ghar ki aabaadi mehamaanon par hai
koi aa jae to vaqt guzar jaata hai

 


 

ईद का दिन है सो कमरे में पड़ा हूँ ‘असलम’
अपने दरवाज़े को बाहर से मुक़फ़्फ़ल कर के

id ka din hai so kamare mein pada hun asalam
apane daravaaze ko baahar se muqaffal kar ke

 


 

मुसाफ़िर ही मुसाफ़िर हर तरफ़ हैं
मगर हर शख़्स तन्हा जा रहा है

musaafir hi musaafir har taraf hain
magar har shakhs tanha ja raha hai

 


 

सारी दुनिया हमें पहचानती है
कोई हम सा भी न तन्हा होगा

saari duniya hamen pahachaanati hai
koi ham sa bhi na tanha hoga

 


2 line lonely shayari

2 line lonely shayari

2 line lonely shayari


भीड़ के ख़ौफ़ से फिर घर की तरफ़ लौट आया
घर से जब शहर में तन्हाई के डर से निकला

bhid ke khauf se phir ghar ki taraf laut aaya
ghar se jab shahar mein tanhai ke dar se nikala

 


 

तन्हाइयाँ तुम्हारा पता पूछती रहीं
शब-भर तुम्हारी याद ने सोने नहीं दिया

tanhaiyaan tumhaara pata puchhati rahin
shab-bhar tumhaari yaad ne sone nahin diya

 


 

शहर में किस से सुख़न रखिए किधर को चलिए
इतनी तन्हाई तो घर में भी है घर को चलिए

shahar mein kis se sukhan rakhie kidhar ko chalie
itani tanhai to ghar mein bhi hai ghar ko chalie

 


 

कुछ तो तन्हाई की रातों में सहारा होता
तुम न होते न सही ज़िक्र तुम्हारा होता

kuchh to tanhai ki raaton mein sahaara hota
tum na hote na sahi zikr tumhaara hota

 


 

इक सफ़ीना है तिरी याद अगर
इक समुंदर है मिरी तन्हाई

ik safina hai tiri yaad agar
ik samundar hai miri tanhai

 


 

ये किस मक़ाम पे लाई है मेरी तन्हाई
कि मुझ से आज कोई बद-गुमाँ नहीं होता

ye kis maqaam pe lai hai meri tanhai
ki mujh se aaj koi bad-gumaan nahin hota

 


alone shayari in hindi for girlfriend

alone shayari in hindi for girlfriend

alone shayari in hindi for girlfriend


ज़रा देर बैठे थे तन्हाई में
तिरी याद आँखें दुखाने लगी

zara der baithe the tanhai mein
tiri yaad aankhen dukhaane lagi

 


 

तन्हाई में करनी तो है इक बात किसी से
लेकिन वो किसी वक़्त अकेला नहीं होता

tanhai mein karani to hai ik baat kisi se
lekin vo kisi vaqt akela nahin hota

 


 

मैं अपने साथ रहता हूँ हमेशा
अकेला हूँ मगर तन्हा नहीं हूँ

main apane saath rahata hun hamesha
akela hun magar tanha nahin hun

 


 

कोई भी घर में समझता न था मिरे दुख सुख
एक अजनबी की तरह मैं ख़ुद अपने घर में था

koi bhi ghar mein samajhata na tha mire dukh sukh
ek ajanabi ki tarah main khud apane ghar mein tha

 


 

भीड़ तन्हाइयों का मेला है
यहाँ हर आदमी अकेला है

bhid tanhaiyon ka mela hai
yahan har aadami akela hai

 


hindi sad shayari

hindi sad shayari

hindi sad shayari

here is the hindi hain hum collection of hindi shayari, alone shayari in hindi for boy, shayari alone in hindi, shayari for loneliness, feeling alone sms in hindi, sad shayari alone boy, alone shayari in urdu and many more.

SAD SHAYARI WITH IMAGES IN HINDI | 2 LINE SHAYARI

SAD SHAYARI IN HINDI FOR GIRLFRIEND | 2 LINE SHAYARI

2 LINE SHAYARI IN URDU | उर्दू शायरी

रूठे हुए प्यार को मनाने वाली शायरी Video


 

You may also like