Home व्हाट्सएप्प स्टेटसLove Status Rahat Indori Hindi Shayari Collection

Rahat Indori Hindi Shayari Collection

by piyush Hindustani
Rahat Indori collection

दोस्तों, अगर आप hindi shayari और hindi gazal के शौकीन है तो आप डॉ राहत इंदौरी साहब से जरूर परिचित होंगे क्योंकि Rahat Indori साहब ने हिंदी शायरी और ग़ज़ल की दुनिया में इतना नाम कमाया है की अब बे किसी परिचय के मोहताज़ नहीं हैं। Dr. Rahat Indori Urdu shayari और hindi shayari के बड़े शायरों में से एक हैं।
आज अगर आप किसी भी सोशल मिडिया या वेबसाइट पैर जायेंगे तो आपको Rahat Indori shayari, Rahat Indori hindi shayari, Rahat Indori shayari in hindi और Rahat Indori status नाम के अनेको हिंदी शायरी पेज मिल जायेंगे, लेकिन आज हम आपके लिए लाये है Rahat Indori Hindi Shayari Collection जो Rahat Indori साहब की सबसे best hindi shayri का अबतक का सबसे बड़ा कलेक्शन है तो पढ़िए और अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये।

????????????????????????????

 

Rahat Indori best hindi Shayari

रोज़ तारों को नुमाइश में ख़लल पड़ता है
चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है
उस की याद आई है साँसो ज़रा आहिस्ता चलो
धड़कनों से भी इबादत में ख़लल पड़ता है

roz taaron ko numaish mein khalal padata hai
chaand paagal hai andhere mein nikal padata hai
us ki yaad aai hai saanso zara aahista chalo
dhadakanon se bhi ibaadat mein khalal padata hai

????????????????????????????

 

जागने की भी, जगाने की भी, आदत हो जाए
काश तुझको किसी शायर से मोहब्बत हो जाए
दूर हम कितने दिन से हैं, ये कभी गौर किया
फिर न कहना जो अमानत में खयानत हो जाए

jaagane ki bhi, jagaane ki bhi, aadat ho jae
kaash tujhako kisi shaayar se mohabbat ho jae
door ham kitane din se hain, ye kabhi gaur kiya
phir na kahana jo amaanat mein khayaanat ho jae

????????????????????????????

 

सूरज, सितारे, चाँद मेरे साथ में रहें
जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहें
शाखों से टूट जाए वो पत्ते नहीं हैं हम
आंधी से कोई कह दे की औकात में रहें

sooraj, sitaare, chaand mere saath mein rahen
jab tak tumhaare haath mere haath mein rahen
shaakhon se toot jae vo patte nahin hain ham
aandhi se koi kah de ki aukaat mein rahen

????????????????????????????

 

गुलाब, ख्वाब, दवा, ज़हर, जाम क्या क्या हैं
में आ गया हु बता इंतज़ाम क्या क्या हैं
फ़क़ीर, शाह, कलंदर, इमाम क्या क्या हैं
तुझे पता नहीं तेरा गुलाम क्या क्या हैं

gulaab, khvaab, dava, zahar, jaam kya kya hain
mein aa gaya hu bata intazaam kya kya hain
faqir, shaah, kalandar, imaam kya kya hain
tujhe pata nahin tera gulaam kya kya hain

????????????????????????????

 

कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते हैं
कभी धुएं की तरह पर्वतों से उड़ते हैं
ये केचियाँ हमें उड़ने से खाक रोकेंगी
की हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं

kabhi mahak ki tarah ham gulon se udate hain
kabhi dhuen ki tarah parvaton se udate hain
ye kechiyaan hamen udane se khaak rokengi
ki ham paron se nahin hausalon se udate hain

????????????????????????????

 

हर एक हर्फ़ का अंदाज़ बदल रखा हैं
आज से हमने तेरा नाम ग़ज़ल रखा हैं
मैंने शाहों की मोहब्बत का भरम तोड़ दिया
मेरे कमरे में भी एक ताजमहल रखा हैं

har ek harf ka andaaz badal rakha hain
aaj se hamane tera naam gazal rakha hain
mainne shaahon ki mohabbat ka bharam tod diya
mere kamare mein bhi ek taajamahal rakha hain

????????????????????????????

 

जवानिओं में जवानी को धुल करते हैं
जो लोग भूल नहीं करते, भूल करते हैं
अगर अनारकली हैं सबब बगावत का
सलीम हम तेरी शर्ते कबूल करते हैं

javaanion mein javaani ko dhul karate hain
jo log bhool nahin karate, bhool karate hain
agar anaarakali hain sabab bagaavat ka
salim ham teri sharte kabool karate hain

 

Rahat Indori hindi Shayari Collection

Rahat Indori hindi Shayari Collection

Rahat Indori Hindi Shayari Collection

 

नए सफ़र का नया इंतज़ाम कह देंगे
हवा को धुप, चरागों को शाम कह देंगे
किसी से हाथ भी छुप कर मिलाइए
वरना इसे भी मौलवी साहब हराम कह देंगे

nae safar ka naya intazaam kah denge
hava ko dhup, charaagon ko shaam kah denge
kisi se haath bhi chhup kar milaie
varana ise bhi maulavi saahab haraam kah denge

????????????????????????????

 

जवान आँखों के जुगनू चमक रहे होंगे
अब अपने गाँव में अमरुद पक रहे होंगे
भुलादे मुझको मगर, मेरी उंगलियों के निशान
तेरे बदन पे अभी तक चमक रहे होंगे

javaan aankhon ke juganoo chamak rahe honge
ab apane gaanv mein amarud pak rahe honge
bhulaade mujhako magar, meri ungaliyon ke nishaan
tere badan pe abhi tak chamak rahe honge

????????????????????????????

 

इश्क ने गूथें थे जो गजरे नुकीले हो गए
तेरे हाथों में तो ये कंगन भी ढीले हो गए
फूल बेचारे अकेले रह गए है शाख पर
गाँव की सब तितलियों के हाथ पीले हो गए

ishq ne goothen the jo gajare nukile ho gae
tere haathon mein to ye kangan bhi dhile ho gae
phool bechaare akele rah gae hai shaakh par
gaanv ki sab titaliyon ke haath pile ho gae

????????????????????????????

 

सरहदों पर तनाव हे क्या
ज़रा पता तो करो चुनाव हैं क्या
शहरों में तो बारूदो का मौसम हैं
गाँव चलों अमरूदो का मौसम हैं

sarahadon par tanaav he kya
zara pata to karo chunaav hain kya
shaharon mein to baaroodo ka mausam hain
gaanv chalon amaroodo ka mausam hain

????????????????????????????

 

काम सब गेरज़रुरी हैं, जो सब करते हैं
और हम कुछ नहीं करते हैं, गजब करते हैं
आप की नज़रों मैं, सूरज की हैं जितनी अजमत
हम चरागों का भी, उतना ही अदब करते हैं

kaam sab gerazaruri hain, jo sab karate hain
aur ham kuchh nahin karate hain, gajab karate hain
aap ki nazaron main, sooraj ki hain jitani ajamat
ham charaagon ka bhi, utana hi adab karate hain

????????????????????????????

 

ये सहारा जो न हो तो परेशां हो जाए
मुश्किलें जान ही लेले अगर आसान हो जाए
ये कुछ लोग फरिस्तों से बने फिरते हैं
मेरे हत्थे कभी चढ़ जाये तो इन्सां हो जाए

ye sahaara jo na ho to pareshaan ho jae
mushkilen jaan hi lele agar aasaan ho jae
ye kuchh log phariston se bane phirate hain
mere hatthe kabhi chadh jaaye to insaan ho jae

????????????????????????????

 

लवे दीयों की हवा में उछालते रहना
गुलो के रंग पे तेजाब डालते रहना
में नूर बन के ज़माने में फ़ैल जाऊँगा
तुम आफताब में कीड़े निकालते रहना

lave diyon ki hava mein uchhaalate rahana
gulo ke rang pe tejaab daalate rahana
mein noor ban ke zamaane mein fail jaoonga
tum aaphataab mein kide nikaalate rahana

????????????????????????????

 

जुबा तो खोल, नज़र तो मिला,जवाब तो दे
में कितनी बार लुटा हु, मुझे हिसाब तो दे
तेरे बदन की लिखावट में हैं उतार चढाव
में तुझको कैसे पढूंगा, मुझे किताब तो दे

juba to khol, nazar to mila,javaab to de
mein kitani baar luta hu, mujhe hisaab to de
tere badan ki likhaavat mein hain utaar chadhaav
mein tujhako kaise padhoonga, mujhe kitaab to de

 

Rahat Indori Top 10 hindi Shayari

hindi love shayari

hindi love shayari

 

सफ़र की हद है वहां तक की कुछ निशान रहे
चले चलो की जहाँ तक ये आसमान रहे
ये क्या उठाये कदम और आ गयी मंजिल
मज़ा तो तब है के पैरों में कुछ थकान रहे

safar ki had hai vahaan tak ki kuchh nishaan rahe
chale chalo ki jahaan tak ye aasamaan rahe
ye kya uthaaye kadam aur aa gayi manjil
maza to tab hai ke pairon mein kuchh thakaan rahe

????????????????????????????

 

तुफानो से आँख मिलाओ, सैलाबों पे वार करो
मल्लाहो का चक्कर छोड़ो, तैर कर दरिया पार करो
फूलो की दुकाने खोलो, खुशबु का व्यापर करो
इश्क खता हैं, तो ये खता एक बार नहीं, सौ बार करो

tuphaano se aankh milao, sailaabon pe vaar karo
mallaaho ka chakkar chhodo, tair kar dariya paar karo
phoolo ki dukaane kholo, khushabu ka vyaapar karo
ishq khata hain, to ye khata ek baar nahin, sau baar karo

????????????????????????????

 

जा के कोई कह दे, शोलों से चिंगारी से
फूल इस बार खिले हैं बड़ी तैयारी से
बादशाहों से भी फेके हुए सिक्के ना लिए
हमने खैरात भी मांगी है तो खुद्दारी से

ja ke koi kah de, sholon se chingaari se
phool is baar khile hain badi taiyaari se
baadashaahon se bhi pheke hue sikke na lie
hamane khairaat bhi maangi hai to khuddaari se

????????????????????????????

 

बन के इक हादसा बाज़ार में आ जाएगा
जो नहीं होगा वो अखबार में आ जाएगा
चोर उचक्कों की करो कद्र, की मालूम नहीं
कौन, कब, कौन सी सरकार में आ जाएगा

ban ke ik haadasa baazaar mein aa jaega
jo nahin hoga vo akhabaar mein aa jaega
chor uchakkon ki karo kadr, ki maaloom nahin
kaun, kab, kaun si sarakaar mein aa jaega

????????????????????????????

 

नयी हवाओं की सोहबत बिगाड़ देती हैं
कबूतरों को खुली छत बिगाड़ देती हैं
जो जुर्म करते है इतने बुरे नहीं होते
सज़ा न देके अदालत बिगाड़ देती हैं

nayi havaon ki sohabat bigaad deti hain
kabootaron ko khuli chhat bigaad deti hain
jo jurm karate hai itane bure nahin hote
saza na deke adaalat bigaad deti hain

????????????????????????????

 

लोग हर मोड़ पे रुक रुक के संभलते क्यों हैं
इतना डरते हैं तो फिर घर से निकलते क्यों हैं
मोड़ होता हैं जवानी का संभलने के लिए
और सब लोग यही आके फिसलते क्यों हैं

log har mod pe ruk ruk ke sambhalate kyon hain
itana darate hain to phir ghar se nikalate kyon hain
mod hota hain javaani ka sambhalane ke lie
aur sab log yahi aake phisalate kyon hain

????????????????????????????

 

साँसों की सीडियों से उतर आई जिंदगी
बुझते हुए दिए की तरह, जल रहे हैं हम
उम्रों की धुप, जिस्म का दरिया सुखा गयी
हैं हम भी आफताब, मगर ढल रहे हैं हम

saanson ki sidiyon se utar aai jindagi
bujhate hue die ki tarah, jal rahe hain ham
umron ki dhup, jism ka dariya sukha gayi
hain ham bhi aaphataab, magar dhal rahe hain ham

????????????????????????????

 

दिलों में आग, लबों पर गुलाब रखते हैं
सब अपने चहेरों पर, दोहरी नकाब रखते हैं
हमें चराग समझ कर भुझा ना पाओगे
हम अपने घर में कई आफ़ताब रखते हैं

dilon mein aag, labon par gulaab rakhate hain
sab apane chaheron par, dohari nakaab rakhate hain
hamen charaag samajh kar bhujha na paoge
ham apane ghar mein kai aafataab rakhate hain

 

Romantic hindi shayari of Dr. Rahat Indori

Romantic hindi shayari of Dr. Rahat Indori

Romantic hindi shayari of  Rahat Indori

 

अजनबी ख़्वाहिशें सीने में दबा भी न सकूँ
ऐसे ज़िद्दी हैं परिंदे कि उड़ा भी न सकूँ
फूँक डालूँगा किसी रोज़ मैं दिल की दुनिया
ये तेरा ख़त तो नहीं है कि जला भी न सकूँ

ajanabi khvaahishen sine mein daba bhi na sakoon
aise ziddi hain parinde ki uda bhi na sakoon
phoonk daaloonga kisi roz main dil ki duniya
ye tera khat to nahin hai ki jala bhi na sakoon

????????????????????????????

 

राज़ जो कुछ हो इशारों में बता देना
हाथ जब उससे मिलाओ दबा भी देना
नशा वेसे तो बुरी शे है, मगर
राहत से सुननी हो तो थोड़ी सी पिला भी देना

raaz jo kuchh ho ishaaron mein bata dena
haath jab usase milao daba bhi dena
nasha vese to buri she hai, magar
raahat se sunani ho to thodi si pila bhi dena

????????????????????????????

 

इन्तेज़ामात नए सिरे से संभाले जाएँ
जितने कमजर्फ हैं महफ़िल से निकाले जाएँ
मेरा घर आग की लपटों में छुपा हैं लेकिन
जब मज़ा हैं, तेरे आँगन में उजाला जाएँ

intezaamaat nae sire se sambhaale jaen
jitane kamajarph hain mahafil se nikaale jaen
mera ghar aag ki lapaton mein chhupa hain lekin
jab maza hain, tere aangan mein ujaala jaen

????????????????????????????

 

ये हादसा तो किसी दिन गुजरने वाला था
में बच भी जाता तो मरने वाला था
मेरा नसीब मेरे हाथ कट गए
वरना में तेरी मांग में सिन्दूर भरने वाला था

ye haadasa to kisi din gujarane vaala tha
mein bach bhi jaata to marane vaala tha
mera nasib mere haath kat gae
varana mein teri maang mein sindoor bharane vaala tha

????????????????????????????

 

दोस्ती जब किसी से की जाये
दुश्मनों की भी राय ली जाए
बोतलें खोल के तो पि बरसों
आज दिल खोल के पि जाए

dosti jab kisi se ki jaaye
dushmanon ki bhi raay li jae
botalen khol ke to pi barason
aaj dil khol ke pi jae

????????????????????????????

 

यही ईमान लिखते हैं, यही ईमान पढ़ते हैं
हमें कुछ और मत पढवाओ, हम कुरान पढ़ते हैं
यहीं के सारे मंजर हैं, यहीं के सारे मौसम हैं
वो अंधे हैं, जो इन आँखों में पाकिस्तान पढ़ते हैं

yahi imaan likhate hain, yahi imaan padhate hain
hamen kuchh aur mat padhavao, ham kuraan padhate hain
yahin ke saare manjar hain, yahin ke saare mausam hain
vo andhe hain, jo in aankhon mein paakistaan padhate hain

????????????????????????????

 

इस दुनिया ने मेरी वफ़ा का कितना ऊँचा मोल दिया
बातों के तेजाब में, मेरे मन का अमृत घोल दिया
जब भी कोई इनाम मिला हैं, मेरा नाम तक भूल गए
जब भी कोई इलज़ाम लगा हैं, मुझ पर लाकर ढोल दिया

is duniya ne meri vafa ka kitana ooncha mol diya
baaton ke tejaab mein, mere man ka amrt ghol diya
jab bhi koi inaam mila hain, mera naam tak bhool gae
jab bhi koi ilazaam laga hain, mujh par laakar dhol diya

????????????????????????????

 

कश्ती तेरा नसीब चमकदार कर दिया
इस पार के थपेड़ों ने उस पार कर दिया
अफवाह थी की मेरी तबियत ख़राब हैं
लोगो ने पूछ पूछ के बीमार कर दिया

kashti tera nasib chamakadaar kar diya
is paar ke thapedon ne us paar kar diya
aphavaah thi ki meri tabiyat kharaab hain
logo ne poochh poochh ke bimaar kar diya

 

Rahat Indori love Shayari in hindi

Rahat Indori love Shayari in hindi

Rahat Indori love Shayari in hindi


फैसला जो कुछ भी हो, हमें मंजूर होना चाहिए

जंग हो या इश्क हो, भरपूर होना चाहिए
भूलना भी हैं, जरुरी याद रखने के लिए
पास रहना है, तो थोडा दूर होना चाहिए

phaisala jo kuchh bhi ho, hamen manjoor hona chaahie
jang ho ya ishq ho, bharapoor hona chaahie
bhoolana bhi hain, jaruri yaad rakhane ke lie
paas rahana hai, to thoda door hona chaahie

????????????????????????????

 

मौसमो का ख़याल रखा करो
कुछ लहू मैं उबाल रखा करो
लाख सूरज से दोस्ताना हो
चंद जुगनू भी पाल रखा करो

mausamo ka khayaal rakha karo
kuchh lahoo main ubaal rakha karo
laakh sooraj se dostaana ho
chand juganoo bhi paal rakha karo

????????????????????????????

 

जागने की भी, जगाने की भी, आदत हो जाए
काश तुझको किसी शायर से मोहब्बत हो जाए
दूर हम कितने दिन से हैं, ये कभी गौर किया
फिर न कहना जो अमानत में खयानत हो जाए

jaagane ki bhi, jagaane ki bhi, aadat ho jae
kaash tujhako kisi shaayar se mohabbat ho jae
door ham kitane din se hain, ye kabhi gaur kiya
phir na kahana jo amaanat mein khayaanat ho jae

????????????????????????????

 

जुबा तो खोल, नज़र तो मिला,जवाब तो दे
में कितनी बार लुटा हु, मुझे हिसाब तो दे
तेरे बदन की लिखावट में हैं उतार चढाव
में तुझको कैसे पढूंगा, मुझे किताब तो दे

juba to khol, nazar to mila,javaab to de
mein kitani baar luta hu, mujhe hisaab to de
tere badan ki likhaavat mein hain utaar chadhaav
mein tujhako kaise padhoonga, mujhe kitaab to de

????????????????????????????

 


अब जो बाज़ार में रखे हो तो हैरत क्या है

जो भी देखेगा वो पूछेगा की कीमत क्या है
एक ही बर्थ पे दो साये सफर करते रहे
मैंने कल रात यह जाना है कि जन्नत क्या है

ab jo baazaar mein rakhe ho to hairat kya hai
jo bhi dekhega vo poochhega ki kimat kya hai
ek hi barth pe do saaye saphar karate rahe
mainne kal raat yah jaana hai ki jannat kya hai

????????????????????????????

 

आग के पास कभी मोम को लाकर देखूं
हो इज़ाज़त तो तुझे हाथ लगाकर देखूं
दिल का मंदिर बड़ा वीरान नज़र आता है
सोचता हूँ तेरी तस्वीर लगाकर देखूं

aag ke paas kabhi mom ko laakar dekhoon
ho izaazat to tujhe haath lagaakar dekhoon
dil ka mandir bada viraan nazar aata hai
sochata hoon teri tasvir lagaakar dekhoon

????????????????????????????

 

हाथ ख़ाली हैं तेरे शहर से जाते जाते
जान होती तो मेरी जान लुटाते जाते
अब तो हर हाथ का पत्थर हमें पहचानता है
उम्र गुज़री है तेरे शहर में आते जाते

haath khaali hain tere shahar se jaate jaate
jaan hoti to meri jaan lutaate jaate
ab to har haath ka patthar hamen pahachaanata hai
umr guzari hai tere shahar mein aate jaate

????????????????????????????

 

इश्क ने गूथें थे जो गजरे नुकीले हो गए
तेरे हाथों में तो ये कंगन भी ढीले हो गए
फूल बेचारे अकेले रह गए है शाख पर
गाँव की सब तितलियों के हाथ पीले हो गए

ishq ne goothen the jo gajare nukile ho gae
tere haathon mein to ye kangan bhi dhile ho gae
phool bechaare akele rah gae hai shaakh par
gaanv ki sab titaliyon ke haath pile ho gae

????????????????????????????

 

two line Shayari of Rahat Indori

two line Shayari of Rahat Indori

two line Shayari of Rahat Indori

 

मैंने अपनी खुश्क आँखों से लहू छलका दिया,
इक समंदर कह रहा था मुझको पानी चाहिए।

mainne apanee khushk aankhon se lahoo chhalaka diya,
ik samandar kah raha tha mujhako paanee chaahie.

????????????????????????????

 

रोज़ पत्थर की हिमायत में ग़ज़ल लिखते हैं
रोज़ शीशों से कोई काम निकल पड़ता है

roz patthar kee himaayat mein gazal likhate hain
roz sheeshon se koee kaam nikal padata hai

????????????????????????????

 

बहुत ग़ुरूर है दरिया को अपने होने पर
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएँ

bahut guroor hai dariya ko apane hone par
jo meree pyaas se ulajhe to dhajjiyaan ud jaen

????????????????????????????

 

नए किरदार आते जा रहे हैं
मगर नाटक पुराना चल रहा है

nae kiradaar aate ja rahe hain
magar naatak puraana chal raha hai

????????????????????????????

 

मैं आख़िर कौन सा मौसम तुम्हारे नाम कर देता
यहाँ हर एक मौसम को गुज़र जाने की जल्दी थी

main aakhir kaun sa mausam tumhaare naam kar deta
yahaan har ek mausam ko guzar jaane kee jaldee thee

????????????????????????????

 

बीमार को मरज़ की दवा देनी चाहिए
मैं पीना चाहता हूँ पिला देनी चाहिए

beemaar ko maraz kee dava denee chaahie
main peena chaahata hoon pila denee chaahie

????????????????????????????

 

मैं ने अपनी ख़ुश्क आँखों से लहू छलका दिया
इक समुंदर कह रहा था मुझ को पानी चाहिए

main ne apanee khushk aankhon se lahoo chhalaka diya
ik samundar kah raha tha mujh ko paanee chaahie

????????????????????????????

 

कॉलेज के सब बच्चे चुप हैं काग़ज़ की इक नाव लिए
चारों तरफ़ दरिया की सूरत फैली हुई बेकारी है

Collage ke sab bachche chup hain kaagaz kee ik naav lie
chaaron taraf dariya kee soorat phailee huee bekaaree hai

????????????????????????????

 

वो चाहता था कि कासा ख़रीद ले मेरा
मैं उस के ताज की क़ीमत लगा के लौट आया

vo chaahata tha ki kaasa khareed le mera
main us ke taaj kee qeemat laga ke laut aaya

????????????????????????????

 

हम से पहले भी मुसाफ़िर कई गुज़रे होंगे
कम से कम राह के पत्थर तो हटाते जाते

ham se pahale bhee musaafir kaee guzare honge
kam se kam raah ke patthar to hataate jaate

????????????????????????????

 

घर के बाहर ढूँढता रहता हूँ दुनिया
घर के अंदर दुनिया-दारी रहती है

ghar ke baahar dhoondhata rahata hoon duniya
ghar ke andar duniya-daaree rahatee hai

????????????????????????????

 

शहर क्या देखें कि हर मंज़र में जाले पड़ गए
ऐसी गर्मी है कि पीले फूल काले पड़ गए

shahar kya dekhen ki har manzar mein jaale pad gae
aisee garmee hai ki peele phool kaale pad gae

????????????????????????????

 

अजनबी ख़्वाहिशें , सीने में दबा भी न सकूँ
ऐसे ज़िद्दी हैं परिंदे , कि उड़ा भी न सकूँ

ajanabee khvaahishen , seene mein daba bhee na sakoon
aise ziddee hain parinde , ki uda bhee na sakoon

????????????????????????????

 

अब तो हर हाथ का पत्थर हमें पहचानता है
उम्र गुज़री है तिरे शहर में आते जाते

ab to har haath ka patthar hamen pahachaanata hai
umr guzaree hai tire shahar mein aate jaate

????????????????????????????

 

बहुत ग़ुरूर है दरिया को अपने होने पर
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएँ

bahut guroor hai dariya ko apane hone par
jo meree pyaas se ulajhe to dhajjiyaan ud jaen

 

Dr. Rahat Indori 2 line Shayari in hindi

Dr. Rahat Indori 2 line Shayari in hindi

Dr. Rahat Indori 2 line Shayari in hindi

 

न हम-सफ़र न किसी हम-नशीं से निकलेगा
हमारे पाँव का काँटा हमीं से निकलेगा

na ham-safar na kisee ham-nasheen se nikalega
hamaare paanv ka kaanta hameen se nikalega

????????????????????????????

 

बीमार को मरज़ की दवा देनी चाहिए
मैं पीना चाहता हूँ पिला देनी चाहिए

beemaar ko maraz kee dava denee chaahie
main peena chaahata hoon pila denee chaahie

????????????????????????????

 

मिरी ख़्वाहिश है कि आँगन में न दीवार उठे
मिरे भाई मिरे हिस्से की ज़मीं तू रख ले

miree khvaahish hai ki aangan mein na deevaar uthe
mire bhaee mire hisse kee zameen too rakh le

????????????????????????????

 

मैं पर्बतों से लड़ता रहा और चंद लोग
गीली ज़मीन खोद के फ़रहाद हो गए

main parbaton se ladata raha aur chand log
geelee zameen khod ke farahaad ho gae

????????????????????????????

 

मज़ा चखा के ही माना हूँ मैं भी दुनिया को
समझ रही थी कि ऐसे ही छोड़ दूँगा उसे

maza chakha ke hee maana hoon main bhee duniya ko
samajh rahee thee ki aise hee chhod doonga use

????????????????????????????

 

ख़याल था कि ये पथराव रोक दें चल कर
जो होश आया तो देखा लहू लहू हम थे

khayaal tha ki ye patharaav rok den chal kar
jo hosh aaya to dekha lahoo lahoo ham the

????????????????????????????

 

मैं आ कर दुश्मनों में बस गया हूँ
यहाँ हमदर्द हैं दो-चार मेरे

main aa kar dushmanon mein bas gaya hoon
yahaan hamadard hain do-chaar mere

????????????????????????????

 

चलते फिरते हुए मेहताब दिखाएँगे तुम्हे
हमसे मिलना कभी पंजाब दिखाएँगे तुम्हे

chalate phirate hue mehataab dikhaenge tumhe
hamase milana kabhee panjaab dikhaenge tumhe

????????????????????????????

 

ऐसी सर्दी है कि सूरज भी दुहाई मांगे
जो हो परदेश में वो किससे रजाई मांगे

aisee sardee hai ki sooraj bhee duhaee maange
jo ho paradesh mein vo kisase rajaee maange

????????????????????????????

 

राज़ जो कुछ हो इशारों में बता भी देना
हाथ जब उससे मिलाना तो दबा भी देना

raaz jo kuchh ho ishaaron mein bata bhee dena
haath jab usase milaana to daba bhee dena

????????????????????????????

 

collection of Rahat Indori Shayari

collection of Rahat Indori Shayari

collection of Rahat Indori Shayari

 

उसकी कत्थई आंखों में हैं जंतर मंतर सब
चाक़ू वाक़ू, छुरियां वुरियां, ख़ंजर वंजर सब
जिस दिन से तुम रूठीं,मुझ से, रूठे रूठे हैं
चादर वादर, तकिया वकिया, बिस्तर विस्तर सब
मुझसे बिछड़ कर, वह भी कहां अब पहले जैसी है
फीके पड़ गए कपड़े वपड़े, ज़ेवर वेवर सब

usakee katthee aankhon mein hain jantar mantar sab
chaaqoo vaaqoo, chhuriyaan vuriyaan, khanjar vanjar sab
jis din se tum rootheen,mujh se, roothe roothe hain
chaadar vaadar, takiya vakiya, bistar vistar sab
mujhase bichhad kar, vah bhee kahaan ab pahale jaisee hai
pheeke pad gae kapade vapade, zevar vevar sab

????????????????????????????

 

इश्क में पीट के आने के लिए काफी हूँ
मैं निहत्था ही ज़माने के लिए काफी हूँ
हर हकीकत को मेरी, खाक समझने वाले
मैं तेरी नींद उड़ाने के लिए काफी हूँ
एक अख़बार हूँ, औकात ही क्या मेरी
मगर शहर में आग लगाने के लिए काफी हूँ

ishk mein peet ke aane ke lie kaaphee hoon
main nihattha hee zamaane ke lie kaaphee hoon
har hakeekat ko meree, khaak samajhane vaale
main teree neend udaane ke lie kaaphee hoon
ek akhabaar hoon, aukaat hee kya meree
magar shahar mein aag lagaane ke lie kaaphee hoon

????????????????????????????

 

इस से पहले की हवा शोर मचाने लग जाए
मेरे “अल्लाह” मेरी ख़ाक ठिकाने लग जाए
घेरे रहते हैं खाली ख्वाब मेरी आँखों को
काश कुछ देर मुझे नींद भी आने लग जाए
साल भर ईद का रास्ता नहीं देखा जाता
वो गले मुझ से किसी और बहाने लग जाए

is se pahale kee hava shor machaane lag jae
mere “allaah” meree khaak thikaane lag jae
ghere rahate hain khaalee khvaab meree aankhon ko
kaash kuchh der mujhe neend bhee aane lag jae
saal bhar eed ka raasta nahin dekha jaata
vo gale mujh se kisee aur bahaane lag jae

????????????????????????????

 

आँखों में पानी रखों, होंठो पे चिंगारी रखो
जिंदा रहना है तो तरकीबे बहुत सारी रखो
राह के पत्थर से बढ के, कुछ नहीं हैं मंजिलें
रास्ते आवाज़ देते हैं, सफ़र जारी रखो
एक ही नद्दी के हैं ये दो किनारे दोस्तो
दोस्ताना ज़िंदगी से मौत से यारी रखो

aankhon mein paanee rakhon, hontho pe chingaaree rakho
jinda rahana hai to tarakeebe bahut saaree rakho
raah ke patthar se badh ke, kuchh nahin hain manjilen
raaste aavaaz dete hain, safar jaaree rakho
ek hee naddee ke hain ye do kinaare dosto
dostaana zindagee se maut se yaaree rakho

 

प्यार और जिंदगी पर 11 सबसे खूबसूरत शायरी VIdeo

You may also like