Home शायरीBewafa Shayari bewafa poetry in urdu | बेवफा उर्दू शायरी जो दिल छू ले

bewafa poetry in urdu | बेवफा उर्दू शायरी जो दिल छू ले

by piyush Hindustani
bewafa poetry in urdu

bewafa poetry in urdu: उर्दू एक ऐसी भाषा है जिसमे यदि बेवफाई पर ही कुछ क्यों न लिखा पढ़ा जय वो भी खूबसूरत लगता है और दिल में जगह बना लेता है। और उर्दू बेवफा शायरी की तो बात ही अज़ीज है क्योकि ये तो सीधे दिल की बात दिल से पहुंचने का एक जरिया है।

बेवफा उर्दू शायरी अक्सर लोग अपने दिल के गम भुलाने और किसी अपने की याद को नजरअंदाज करने के लिए पढ़ते है जिसने उन्हें प्यार या दोस्ती में बेवफाई की हो। bewafa poetry in urdu दिल के जस्बातो को जाहिर करने का सबसे अच्छा तरीका है।

इसलिए आज हिंदी हैं हम आप सभी के लिए लाया है bewafa shayari in urdu, bewafa poetry, bewafa shayari urdu और bewafa poetry in urdu का एक दिल छू लेने वाली बेवफा उर्दू शायरी का कलेक्शन जो आप सभी को बेहद पसंद आएगा।

 


bewafa poetry in urdu

bewafa shayari in urdu

bewafa shayari in urdu

bewafa shayari in urdu for girlfriend


 

हम से कोई तअल्लुक़-ए-ख़ातिर तो है उसे,
वो यार बा-वफ़ा न सही बेवफ़ा तो है।

ham se koee taalluq-e-khaatir to hai use,
vo yaar ba-vafa na sahee bevafa to hai.

 


 

हाथ मेरे भूल बैठे दस्तकें देने का फ़न,
बंद मुझ पर जब से उस के घर का दरवाज़ा हुआ।

haath mere bhool baithe dastaken dene ka fan,
band mujh par jab se us ke ghar ka daravaaza hua.

 


 

वफ़ा की कौन सी मंज़िल पे उस ने छोड़ा था,
कि वो तो याद हमें भूल कर भी आता है।

vafa kee kaun see manzil pe us ne chhoda tha,
ki vo to yaad hamen bhool kar bhee aata hai.

 


 

वफ़ा की ख़ैर मनाता हूँ बेवफ़ाई में भी,
मैं उस की क़ैद में हूँ क़ैद से रिहाई में भी।

vafa kee khair manaata hoon bevafaee mein bhee,
main us kee qaid mein hoon qaid se rihaee mein bhee.

 


bewafa shayari in urdu

bewafa poetry

bewafa poetry

sad bewafa poetry in urdu


 

इक अजब हाल है कि अब उस को,
याद करना भी बेवफ़ाई है।

ik ajab haal hai ki ab us ko,
yaad karana bhee bevafaee hai.

 


 

वो मुझ को छोड़ के जिस आदमी के पास गया,
गर बराबरी का भी होता तो सब्र आ जाता।

vo mujh ko chhod ke jis aadamee ke paas gaya,
gar baraabaree ka bhee hota to sabr aa jaata.

 


 

कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी,
यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता।

kuchh to majabooriyaan rahee hongee,
yoon koee bevafa nahin hota.

 


 

नहीं शिकवा मुझे कुछ बेवफ़ाई का तिरी हरगिज़।
गिला तब हो अगर तू ने किसी से भी निभाई हो।

nahin shikava mujhe kuchh bevafaee ka tiree haragiz.
gila tab ho agar too ne kisee se bhee nibhaee ho.

 


bewafa poetry

bewafa shayari urdu

bewafa shayari urdu

bewafa dost shayari in urdu


 

उस के यूँ तर्क-ए-मोहब्बत का सबब होगा कोई,
जी नहीं ये मानता वो बेवफ़ा पहले से था।

us ke yoon tark-e-mohabbat ka sabab hoga koee,
jee nahin ye maanata vo bevafa pahale se tha.

 


 

ज़ख़्म झेले दाग़ भी खाए बहुत,
दिल लगा कर हम तो पछताए बहुत।

zakhm jhele daag bhee khae bahut,
dil laga kar ham to pachhatae bahut.

 


 

इस क़दर मुसलसल थीं शिद्दतें जुदाई की,
आज पहली बार उस से मैं ने बेवफ़ाई की।

is qadar musalasal theen shiddaten judaee kee,
aaj pahalee baar us se main ne bevafaee kee.

 


 

तुम किसी के भी हो नहीं सकते,
तुम को अपना बना के देख लिया।

tum kisee ke bhee ho nahin sakate,
tum ko apana bana ke dekh liya.

 


bewafa shayari urdu

bewafa shayari urdu

bewafa shayari urdu

bewafa shayari urdu mein


 

वो तो ख़ुश-बू है हवाओं में बिखर जाएगा,
मसअला फूल का है फूल किधर जाएगा।

vo to khush-boo hai havaon mein bikhar jaega,
masala phool ka hai phool kidhar jaega.

 


 

तुम ने किया न याद कभी भूल कर हमें।
हम ने तुम्हारी याद में सब कुछ भुला दिया।

tum ne kiya na yaad kabhee bhool kar hamen.
ham ne tumhaaree yaad mein sab kuchh bhula diya

 


 

चला था ज़िक्र ज़माने की बेवफ़ाई का,
सो आ गया है तुम्हारा ख़याल वैसे ही।

chala tha zikr zamaane kee bevafaee ka,
so aa gaya hai tumhaara khayaal vaise hee.

 


 

काम आ सकीं न अपनी वफ़ाएँ तो क्या करें,
उस बेवफ़ा को भूल न जाएँ तो क्या करें।

kaam aa sakeen na apanee vafaen to kya karen,
us bevafa ko bhool na jaen to kya karen.

 


bewafa sad poetry

bewafa shayari in urdu for girlfriend

bewafa shayari in urdu for girlfriend

urdu bewafa shayari


 

चुनती हैं मेरे अश्क रुतों की भिकारनें,
‘मोहसिन’लुटा रहा हूँ सर-ए-आम चाँदनी।

chunatee hain mere ashk ruton kee bhikaaranen,
‘mohasin’ luta raha hoon sar-e-aam chaandanee.

 


 

हम से क्या हो सका मोहब्बत में,
ख़ैर तुम ने तो बेवफ़ाई की।

ham se kya ho saka mohabbat mein,
khair tum ne to bevafaee kee.

 


 

दिल भी तोड़ा तो सलीक़े से न तोड़ा तुमने,
बेवफ़ाई के भी आदाब हुआ करते हैं।

dil bhee toda to saleeqe se na toda tumane,
bevafaee ke bhee aadaab hua karate hain.

 


 

अधूरी वफ़ाओं से उम्मीद रखना,
हमारे भी दिल की अजब सादगी है।

adhooree vafaon se ummeed rakhana,
hamaare bhee dil kee ajab saadagee hai.

 


बेवफा उर्दू शायरी जो दिल छू ले

बेवफा उर्दू शायरी जो दिल छू ले

बेवफा उर्दू शायरी जो दिल छू ले


बेवफाई किसी से भी अच्छी नहीं होती चाहे वह आपका प्यार हो, आपका दोस्त हो या कोई आपका अपना। हमेशा खुदा से ये मांगना चाहिए की हम जिसके साथ रह रहे है उससे हमेशा वफ़ा ही की जाये और कभी उसका दिल न टूटे। क्योकि जैम एक चाहने वाला किसी का दिल तोड़ता है तो बहुत तकलीफ होती है।

Here is hindi hain hum collection of bewafa poetry in urdu, bewafa shayari in urdu, bewafa poetry, bewafa shayari urdu, bewafa sad poetry, sad bewafa poetry in urdu, bewafa shayari in urdu for girlfriend, bewafa dost shayari in urdu, bewafa shayari urdu mein and many more.

 

आपके लिए खास: ये भी पढ़े

Best Bewafa Shayari in Hindi | बेवफा शायरी कलेक्शन
romantic urdu shayari | प्यार वाली शायरी उर्दू में
2 line shayari in urdu | जबरदस्त और दिलकश उर्दू शायरी
sad poetry in urdu | sad urdu shayari
miss you shayari in hindi | मिस यू शायरी
yaad shayari in hindi for girlfriend | याद शायरी
sad shayari with images in hindi | 2 line shayari

VIDEO

टूटे हुए दिल वालों के लिए खास Bewafa Shayari | bewafa status

 

You may also like